{100+} Best Maa Shayari in Hindi | माँ पर शायरी 2021

Maa Shayari in Hindi

घुटनों से रेंगते – रेंगते कब पैरो पर खड़ा हो गया
माँ तेरी ममता की छाँव में न जाने कब बड़ा हो गया

Maa Shayari in Hindi

तुम क्या उसकी बराबरी करोगे
वो तुफानो में भी रोटिया सेक देती है
और वो माँ है जनाब डरती नहीं है
मुस्किलो को तो चूल्हे में झोक देती है

Maa Shayari in Hindi

हजारो गम हो फिर भी में ख़ुशी से फुल जाता हूँ
जब हस्ती है मेरी माँ, मैं सारे गम भूल जाता हूँ

Maa Shayari in Hindi

नहीं समझ पाटा इस दिखावे से क्या मिल जाता है
वो हाथ पर माँ खुदवाकर वृद्धाश्रम मिलने जाता है

Maa Shayari in Hindi

हमे मांगना कहा चाहिए और हम मांगते कहा है
एक दिन रो पड़ा बहुत चिल्लाया
और भगवान के दरबार में जाकर कहने लगा की
तू क्यों नहीं सुनाता मेरी क्या दमदार मेरी दुआ नहीं है क्या
भगवान प्रकट हुए और कहने लगे की मांगने यहाँ क्यों चला आया
तेरे घर पर माँ नहीं है क्या

Maa Shayari in Hindi

हालातो के आगे जब साथ न जुबा होती
पहचान लेती है खामोशी में हर दर्द
वो सिर्फ माँ होती है

Maa Shayari in Hindi

उसके रहते जीवन में कभी कोई गम नहीं होता
दुनिया साथ दे या ना दे पर माँ का प्यार कभी कम नहीं होता

Maa Shayari in Hindi

प्यार जन्नत सा इसलिए लगता है
क्योकि ये भी मेरी माँ के कदमो को चूमती है

Maa Shayari in Hindi

उसके होठो पर कभी बदुआ नहीं होती
बस एक माँ है जो कभी कफा नहीं होती

Maa Shayari in Hindi

जमी मेरा वो हो आसमान है
वो खुदा मेरा वो ही भगवान है
क्यों मैं जाऊ कही और उन्हें छोड़ कर
माँ के कदमो में तो सारा जहाँ है मेरा

Maa Shayari in Hindi

तेरे ही आँचल में निकला बचपन
तुझ से ही तो जुडी हर धड़कन है
कहने को तो सब माँ कहते है उसे
लेकिन मेरे लिए तो मेरी माँ ही भगवान है

Maa Shayari in Hindi

जो बना दे सारे बिगड़े काम
माँ के चरणों में होते है चारो धाम

Maa Shayari in Hindi

माँ से बढ़कर कोई नाम क्या होगा
इस नाम का हमसे एहतराम क्या होगा
जिसके पैरो के निचे जन्नत है
उसके सर का मकाम क्या होगा

Maa Shayari in Hindi

माँ है महोब्बत का नाम, माँ को हजारो सलाम
करदे फ़िदा जिंदगी, आये जो बच्चो के काम

Maa Shayari in Hindi

फुल कभी दोबारा नहीं खिलते
जन्म कभी दोबारा नहीं मिलता
मिलते है लोग हजार
लेकिन हजारो गलतिया माफ़ करने वाले माँ-बाप नहीं मिलते

Maa Shayari in Hindi

हर इन्सान की जिंदगी में वह सबसे खास होती है
दूर होते हुए भी वो दिल के पास होती है
जिसके सामने मौत भी अपना सिर झुका दे
वह और कोई नहीं बस माँ होती

Maa Shayari in Hindi

सुना – सुना सा मुझे घर लगता है
माँ नहीं होती तो बहुत डर लगता है

Maa Shayari in Hindi

दावा जब असर ना करे तो नजर उतारती है
और ये माँ है जनाब हार कहा मानती है

Maa Shayari in Hindi

पूछता है जब कोई दुनिया में महोब्बत है कहाँ
मुस्कुरा देता हूँ और याद आ जाती है म

Maa Shayari in Hindi

शर्त लगी थी जब पूरी दुनिया को एक ही शब्द में लिखने की
वो किताबो में ढूंढ रहे थे और मैंने माँ लिख दिया

Maa Shayari in Hindi

चलती फिरती आँखों से अज़ाँ देखी है
मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है

Maa Shayari in Hindi

किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता
शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता

Maa Shayari in Hindi

Maa Shayari in Hindi

सख्त राहों में भी आसान सफ़र लगता है
ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है

Maa Shayari in Hindi

दास्तान मेरे लाड – प्यार की बस
एक हस्ती के इर्द – गिर्द घुमती है

Maa Shayari in Hindi

उमर भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमतगार रही माँ
मैं तेरी खिदमत के काबिल जब हुआ तू चली गयी माँ

Maa Shayari in Hindi

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए
कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है

Maa Shayari in Hindi

माँ तो जन्नत का फूल है
प्यार करना उसका उसूल है
दुनिया की मोहब्बत फिजूल है
माँ की हर दुआ कबूल है

Maa Shayari in Hindi

माँ को नाराज करना इंसान तेरी भूल है
माँ के कदमो की मिट्टी जन्नत की धूल है

Maa Shayari in Hindi

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी

Maa Shayari in Hindi

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आई
मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई

Maa Shayari in Hindi

रूह के रिश्तों की ये गहराइयाँ तो देखिये
चोट लगती है हमें और चिल्लाती है माँ
हम खुशियों में माँ को भले ही भूल जायें
जब मुसीबत आ जाए तो याद आती है माँ

Maa Shayari in Hindi

ऊपर जिसका अंत नहीं उसे आसमा कहते है
और इस जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते है

Maa Shayari in Hindi

बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है
अपने नाकारा बेटे को भी माँ दूध का धुला कहती है

Maa Shayari in Hindi

नहीं हो सकता कद तेरा ऊँचा किसी भी माँ से ए खुदा
तू जिसे आदमी बनाता है, वो उसे इन्सान बनाती है

Maa Shayari in Hindi

मांग लूँ यह दुआ कि फिर यही जहाँ मिले
फिर वही गोद मिले फिर वही माँ मिले

Maa Shayari in Hindi

है गरीब मेरी माँ फिर भी मेरा ख्याल रखती है
मेरे लिए रोटी और अपने लिए पतीले की खुरचन रखती है

Maa Shayari in Hindi

माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा
माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा
खुदा ने रख दी हो जिस के कदमों में जन्नत
सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा

Maa Shayari in Hindi

जब जब कागज पर लिखा, मैने “माँ” का नाम
कलम अदब से बोल उठी, हो गये चारो धाम

Maa Shayari in Hindi

मेरी तक़दीर में कभी कोई गम नही होता
अगर तक़दीर लिखने का हक़ मेरी माँ को होता

Maa Shayari in Hindi

जिसके होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ
मेरे रब के बाद मैं बस अपनी माँ को जानता हूँ

Maa Shayari in Hindi

जन्नत का हर लम्हा, दीदार किया था
गोद मे उठाकर जब माँ ने प्यार किया था

कौन सी है वो चीज़ जो यहाँ नहीं मिलती
सब कुछ मिल जाता है पर माँ नहीं मिलती

तेरी डिब्बे की वो दो रोटिया कही बिकती नहीं
माँ मेंहगे होटलों में आज भी भूख मिटती नहीं

माँ तेरी याद सताती है मेरे पास आ जाओ
थक गया हूँ मुझे अपने आँचल मे सुलाओ
उंगलियाँ अपनी फेर कर बालो में मेरे
एक बार फिर से बचपन कि लोरियां सुनाओ

डांट कर बच्चो को खुद अकेले में रोटी है
वो माँ है साहब जो ऐसी ही होती है

ना अपनों से खुलता है और ना ही गैरो से खुलता है
जन्नत का दरवाजा मेरी माँ के कदमो से खुलता है

ठोकर न मार मुझे पत्थर नहीं हूँ मैं
हैरत से न देख मुझे मंज़र नहीं हूँ मैं
तेरी नज़रों में मेरी क़दर कुछ भी नहीं
मेरी माँ से पूछ उसके लिए क्या नहीं हूँ मैं

कदम जब चूमले मंज़िल तो जज़्बा मुस्कुराता है
दुआ लेकर चलो माँ की तो रस्ता मुस्कुराता है

उसकी होठो पे कभी बदूआ नही होती
बस एक माँ है जो कभी खफा नही होती

माँ-बाप से बढ़कर इस दुनिया मेरा कोई भगवान नहीं
चूका पाऊ उनके ऋण को इतनी मेरी औकात नहीं

तेरे पैरों के निचे है जन्नत मेरी,
उम्र भर सर पे साया तेरा चाहिए,
प्यारी माँ मुझको तेरी दुआ चाहिए,
तेरे आँचल की ठंडी हवा चाहिए।

माँ तो जन्नत का फूल है,
प्यार करना उसका उसूल है।

दुनिया की मोहब्बत फिजूल है,
माँ की हर दुआ कबूल है।

माँ को नाराज करना इंसान तेरी भूल है,
माँ के क़दमों की मिट्टी जन्नत की धूल है।

माँ अपने बच्चों पर सब न्योंछावर करती है,
बिना लालच उन्हें प्यार करती है,
भगवान् का दूसरा रूप है मेरी माँ,
जो हर दुःख में मेरा साथ देती है।

मत कहिये मेरे साथ रहती है माँ,
कहिये की माँ के साथ रहते है हम

इस दुनिया में जितने रिश्ते,
सारे झूठे बेहरूप,
एक माँ का रिश्ता सबसे अच्छा,
माँ है सब का रूप।

जो बना दे सारे बिगड़े काम,
माँ के चरण में होते चारों धाम।

किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,
शायद अब घर से कोई, माँ के पैर छूकर नहीं निकलता।

चलती फिरती आँखों से अजां देखी है,
मैंने जन्नत तो नहीं देखी,
लेकिन माँ देखी है।

मांगने पर जहां पूरी हर मन्नत होती हैं,
माँ के पैरों में ही तो वो जन्नत होती है।

भूल जाता हूँ परेशानियां ज़िंदगी की सारी,
माँ अपनी गोद में जब मेरा सर रख लेती है।

अब भी चलती है जब आंधी कभी गम की,
माँ की ममता मुझे बाहों में छूपा लेती है।

है गरीब मेरी माँ फिर भी मेरा ख्याल रखती है,
मेरे लिए रोटी और अपने लिए पतीले की खुरचन रखती है।

बालाएं आकर भी मेरी चौखट से लौट जाती हैं,
मेरी माँ की दुआएं भी कितना असर रखती हैं।

वो उजला हो के मैला हो या मँहगा हो के सस्ता हो,
ये माँ का सर है इस पे हर दुपट्टा मुस्कुराता है।

बहुत बेचैन हो जाता है जब कभी दिल मेरा,
मैं अपने पर्स में रखी माँ की तस्वीर को देख लेता हूँ।

बेसन की रोटी पर, खट्टी चटनी सी माँ…
याद आती है चौका, बासन, चिमटा, फूंकनी जैसी माँ।

शहर में आ कर पढ़ने वाले ये भूल गए,
किस की माँ ने कितना ज़ेवर बेचा था।

वो लम्हा जब मेरे बच्चे ने माँ पुकारा मुझे,
मैं एक शाख़ से कितना घना दरख़्त हुई।

नींद भी भला इन आँखों में कहाँ आती है,
एक अर्से से मैंने अपनी माँ को नहीं देखा।

पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन,
इक औलाद की तकलीफ़ से माँ टूट जाती है।

कल माँ की गोद में, आज मौत की आग़ोश में,
हम को दुनिया में ये दो वक़्त बड़े सुहाने से मिले।

आँसू निकले परदेस में भीगा माँ का प्यार,
दुख ने दुख से बात की बिन चिट्ठी बिन तार।

मैं रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों,
सुबह आँख खुली तो सर ‘माँ’ के कदमो में था
..

फना करदो अपनी सारी ज़िन्दगी, अपनी ‘माँ’ के कदमो में यारो..
दुनिया में यही एक मोहब्बत है, जिसमे बेवफाई नहीं मिलती
..

भरे घर में तेरी आहट मिलती नहीं अम्मा
तेरी बाहों की नरमाहट कहीं मिलती नहीं अम्मा
मैं तन पर लादे फिरता हूँ दुशाले रेशमी लेकिन
तेरी गोदी की गरमाहट कहीं मिलती नहीं अम्मा

प्यार, परवाह, शरारत और थोड़ा समय..
यही वो दौलत है, जो अक्सर हमारे अपने हमसे चाहते हैं..

किसी को जोड़ने में इतने मगन थे हम…
होश तब आया जब अपने वजूद के टुकड़े देखे

जब भी देखा मेरे किरदार पे धब्बा कोई,
देर तक बैठ के तन्हाई में रोया कोई।
“मेरी माँ”

वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,
माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है।।

जरा सी बात है लेकिन हवा को कौन समझाए,
कि मेरी माँ दिए से मेरे लिए काजल बनाती है

सीधा साधा भोला भाला मैं ही सब से सच्चा हूँ,
कितना भी हो जाऊं बड़ा माँ आज भी तेरा बच्चा हूँ

यूँ तो मैंने बुलन्दियों के हर निशान को छुआ,
जब माँ ने गोद में उठाया तो आसमान को छुआ।।

अपनी माँ को कभी न देखूँ तो चैन नहीं आता है,
दिल न जाने क्यूँ माँ का नाम लेते ही बहल जाता है।।

कभी मुस्कुरा दे तो लगता है जिंदगी मिल गयी मुझको,
माँ दुखी हो तो दिल मेरा भी दुखी हो जाता है।।

तेरे क़दमों में ये सारा जहां होगा एक दिन,
माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले।

सबकुछ मिल जाता है दुनिया में मगर,
याद रखना की बस माँ-बाप नहीं मिलते,
मुरझा कर जो गिर गए एक बार डाली से,
ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते

बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है
अपना गंदा बच्चा भी माँ दूध का धुला कहती है।।

नहीं हो सकता कद तेरा ऊँचा किसी भी माँ से ए खुदा,
तू जिसे आदमी बनाता है, वो उसे इन्सान बनाती है।।

उसके होंठों पे कभी बद्दुआ नहीं होती,,
बस इक माँ है जो कभी खफा नहीं होती।।

मांग लूँ यह दुआ कि फिर यही जहाँ मिले,
फिर वही गोद मिले फिर वही माँ मिले

बद्दुआ संतान को इक माँ कभी देती नहीं,
धूप से छाले मिले जो छाँव बैठी है सहेज

किसी को घर मिला हिस्से में या कोई दुकान आई,
मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई।।

किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता,
शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता।।

खबर मशहूर है ये जग सारे में, औलाद से ज्यादा माँ जानती है उसके बारे में

पहला मैदान मेरा मेरी माँ की गोद थी,
मैंने खेलना छोड़ दिया जिस दिन से मैंने मेरी माँ की गोद छोड़ दी।

जब कहना भी नहीं आता था मेरी माँ तब भी
समझ जाती थी की मैं क्या कहना चाहता हूँ।

भले मेरे मक़सद सारे नाकाम हो जाएं
पर बस मेरी माँ का हर काम हो जाए

मैं ना परेशान हो जाऊं मेरी माँ मुझे
इसलिए अपने गम बताती नहीं,
मैं भूखा ना रह जाऊं इसलिए वो
रोटी अपने लिए बचाती नहीं।

Leave a Comment

Essays in Hindi
Copy link